शुगर, मधुमेह, डायबिटीज के कारण लक्षण घरेलू दवाएं/औषधीय एवं उपचार विधि/Diabetes Treatment in Hindi.

Sponsored

शुगर, मधुमेह, डायबिटीज: आजकल की बदलती जीवनशैली, तनाव, डिप्रेशन और चिंता ने तमाम बीमारियों को जन्म दिया है और उन्ही में से एक गंभीर बीमारी शुगर है Diabetes जिसे मधुमेह या आम बोल चाल की भाषा में शुगर भी कहा जाता है। यह एक ऐसी बीमारी है जो सिर्फ बड़ों को ही नहीं बल्कि बच्‍चों को भी तेजी से अपना शिकार बना रही है। विश्व स्वास्थ्य संगठन रिपोर्ट के मुताबिक, आज दुनिया भर में करीब 422 मिल‍ियन लोग शुगर की समस्या से पीड़ित हैं जिसमें से एक करोड़ लोग भारत के शामिल हैं। वर्ष 2015 के रिपोर्ट के मुताबिक लगभग 1.5 मिल‍ियन डायबिटीज के कारण लोगों की मृत्यु हो गई। एक स्वस्थ व्यक्ति का खाली पेट शुगर लेवल 70-110 mg होना चाहिए और खाना खाने के बाद 140 mg से कम होना चाहिए। इस अवस्था में व्यक्ति मधुमेह की बिमारियों से दूर रहता है। शुगर के लेवल को बरकरार रखने के लिए हमे नियमित व्यायाम, excercise और रेश लगाने की जरूत होती है। ऐसा करने से हमारे शरीर का शुगर लेवल नियंत्रित रहता है।

आयुर्वेदिक औषधिजड़ी-बूटी इलाज

मधुमेह रोगियों में घाव  होने के क्या कारण  हैं -Click Here

शुगर के कारण: शुगर एक Genetic अनुवांशिक रोग है यह बीमारी अगर किसी के माता पिता को है तो माता पिता के जरिए उनके बच्चों को भी शुगर, मधुमेह, Diabetes होने की सम्भावना बढ़ जाती है। ये खान-पान की वजह से, जंक फ़ूड या फास्ट फूड खाने वाले लोगों में मधुमेह, शुगर की सम्भावना ज्यादा पाई जाती है क्योंकि इस तरह के खान पान में वसा और फैट ज्यादा मात्रा में पाया जाता है जिससे हमारे शरीर में कैलोरीज की मात्रा जरूरत से ज्यादा हो जाती है और शरीर में मोटापा बढ़ जाती है। जिसके कारण इन्सुलिन उस मात्रा में नहीं बन पाती जिससे शरीर में शुगर लेवल की वृद्धि हो जाती है।

शुगर बढ़ने के करण निम्नलिखित प्रकार हैं जैसे: ज्यादा शारीरिक श्रम न करना, मानसिक तनाव और डिप्रेशन, गर्भावस्था, ज्यादा दवाइयों के सेवन ज्यादा चाय, दूध, देर से खाना, कम पानी, नींद पूरी न होना, कोल्ड ड्रिंक्स और चीनी वाले खाने के सेवन, धूम्रपान और तम्बाकू का सेवन आदि शुगर के कारण हैं।

शुगर के लक्षण: शुगर के लक्षण निम्नलिखित प्रकार के होते हैं जैसे: शरीर में स्वेलिंग, बार-बार पेशाब का आना, आंखों की रोशनी कम होना, ज्यादा से ज्यादा प्यास लगना, शरीर में कमजोरी का एहसास होना, कोई भी चोट या जख्म देरी से भरना, रोगी के हाथों, पैरों और गुप्तांगों पर खुजली वाले जख्म, स्कि‍न पर बार बार इन्फेक्शन होना, ज्यादा भूख लगना, ज्यादा खाना खाने के बाद भी रोगी का भार कम होना, बार-बार चक्कर आना और हृदय गति अनियमित होने का खतरा, किडनी खराब होना, पैर या हाथों में सुन्नता या झुनझुनी, मधुमेह होना, शरीर में संक्रमण के लिए संवेदनशीलता में वृद्धि, डायबिटीज होना इत्यादि। मधुमेह में आम के औषधीय प्रयोग

Diabetes शुगर/मधुमेह के सरल घरेलू उपचार

Sponsored
  • शुगर में करेले का जूस का अधिक से अधिक सेवन करने से शुगर को लेवल में रखता है करेला हमारे शरीर में इंसुलिन के स्राव को बढ़ाता है। शुगर से परेशान मरीज को 15 मिलीलीटर करेले के जूस 110 मिलीलीटर पानी में मिलाकर नियमित सुबह-शाम तथा दोपहर करीब तीन महीने तक पिलाने से या खाने में भी करेले की सब्जी का प्रयोग करने से शुगर पीड़ित व्यक्ति को शीघ्र आराम मिलता है।
  • शुगर मधुमेह के इलाज के लिए बेलपत्र बहुत उपयोगी होता है। बेलपत्र और नीम के पत्ते 10-12 नग लेकर तुलसी के 5-6 पत्तों में 5 नग मुन्नका और 5 नग काली मिर्च मिलाकर एक साथ पिस कर गोलियां बना लें, अब यह गोली प्रतिदिन प्रातः जल के साथ तीन-चार माह तक नियमित सेवन करने से शुगर मधुमेह में लाभ होता है। लेकिन इस प्रयोग के साथ खान-पान का विशेष ध्यान रखना पड़ता है ।
  • शुगर रोगी में आंखें कमजोर होने की आशंका लगातार बनी रहती है। यदि आप चाहते हैं कि शुगर के दौरान आपकी आंखों पर कोई नकारात्मक प्रभाव न पड़े तो आपको करेला-गाजर-पालक का रस मिलाकर पीना चाहिए। इससे आंखों की कमजोरी दूर होती है।
  • शुगर के रोगी को परमल, तौरी, पपीता, लौकी, पालक आदि का सेवन अधिक से अधिक मात्रा में करना चाहिए।
  • शुगर के दौरान शलगम के सेवन से भी रक्त में स्थित शर्करा की मात्रा कम होती है। शलगम को आप सलाद में ले सकते हैं और इसके आलावा शलगम की सब्जी, परांठे, शलगम का जूस आदि चीजों के रूप में प्रयोग कर सकते हैं।
  • विजयसार पेड़ की छाल मधुमेह रोगियों के लिए वरदान से काम नहीं है। इसकी छाल का पाउडर बना के गरम पानी के साथ सेवन करें।
  • शुगर रोगियों को विजयसार पेड़ की छाल का बारीक़ चूर्ण बनाकर गर्म पानी के साथ सुबह-शाम नियमित सेवन करने से शुगर में लाभ होता है। विजयसार पेड़ की छाल शुगर रोगियों के लिए किसी भी औषधिओं से कम नहीं है।
  • शुगर के रोगियों को जामुन का अधिक से अधिक मात्रा में सेवन करना चाहिए। जामुन की छाल, रस और गूदा सभी तरह के शुगर में बेहद फायदेमंद है।
  • शुगर मधुमेह के रोगी को जामुन की गुठली का बारीक चूर्ण बनाकर रख लेना चाहिए और सुबह-शाम तथा दोपहर तीन ग्राम की मात्रा में पानी के साथ सेवन करने से पेशाब में शुगर की मात्रा कम होती है। यानी जामुन ही नहीं बल्कि जामुन की गुठली भी शुगर डायबिटीज के रोगियों के लिए बहुत लाभदायक है।
  • डायबिटीज के रोगियों को कड़वा करेले का रस पीना चाहिए यह शुगर की मात्रा को कम करता है। मधुमेह शुगर के रोगी को करेले का रस प्रतिदिन पीना चाहिए। Research के मुताबिक साबित हो चुका है कि उबले हुए करेले का पानी, शुगर को शीघ्र ही नष्ट करने की क्षमता रखता है।
  • शुगर के मरीज को मेथी दाने का चूर्ण बनाकर प्रातःकाल प्रतिदिन खाली पेट दो चम्मच चूर्ण पानी के साथ सेवन करना चाहिए। यह मधुमेह रोगियों के लिए बहुत ही लाभदायक होता है।
  • मेथी के दाने को रात भर पानी में भिगो कर रख दीजिए, सुबह खाली पेट पानी पीकर मेथी के दाने धीरे-धीरे चबाकर खाने से शुगर धीरे-धीरे ठीक हो जाता है।
  • काली मिर्च किसमिस को रात भर पानी में भिगोकर रख दें, अब इसका सेवन सुबह खाली पेट करने से मधुमेह शुगर नियंत्रित रहता है।
  • शुगर रोगी को आवला, हल्दी और मेथी-तीनों को समभाग मात्रा में लेकर कूट-पीसकर चूर्ण बना लें, इस चूर्ण का प्रयोग सुबह-शाम तथा दोपहर पानी के साथ एक चम्मच सेवन करने से दो तीन महीनों के अंदर शुगर से पीड़ित मरीज को लाभ होगा।

डायबिटीज के कारण लक्षण घरेलू दवाएं/औषधीय एवं उपचार विधि/Diabetes Madhumeh reason symptoms home treatmment in hindi.

Search Link: sugar diabetes ke karan lakshan gharelu dawayen aushadhiy evam upchar vidhi in hindi. madhumeh ke karan lakshan gharelu dawayen ilaj in hindi. sugar ke ilaj, madhumeh ke upchar, diabetes ki deshi dawayen, madhumeh ke ilaj, madhumeh se bachane ke upay, sugar se bachne ke gharelu upchar, diabetes ke ilaj, diabetes ke karan lakshan gharelu dawayen aushadhiy upchar, diabetes se bachne ke upay, sugar ki deshi dawayen, madhumeh ki deshi dawayen, sugar ka upchar, kya hota hai sugar, kaise hota hai sugar, sugar ki gharelu dawayen, what is this sugar, diabetes madhumeh sugar reason symptoms home treatment in hindi.

Sponsored

Reply

Don`t copy text!