अदरक के औषधीय गुण प्रयोग विधि-Adrak Ki Gharelu Davayen, Upchar, Sevan Vidhi in Hindi

Sponsored

            

Table of Contents

अदरक के औषधीय गुण प्रयोग विधि:

अदरक की दवाएं, अदरक अनेक बीमारियां  में जैसे खांसी, सर्दी और जुकाम, पाचन तंत्र, यौन शक्ति, मोटापा, हृदय रोग, जोड़ों के दर्द, संक्रमण, दस्त, त्वचा,  मासिक धर्म,  कैंसर,  सूजन,  दर्द,  रक्त संचालन आदि रोगों में अदरक के प्रयोग से लाभकारी चिकित्सीय फायदे होते हैं, अदरक की घरेलू दवाएं – Ginger Benefits Home Treatment In Hindi.

अदरक में पाये जाने वाले पोषक तत्व – Nutrients found in ginger

अदरक में विटामिन ए,बी,सी, मैग्नीशियम, फास्फोरस, पोटेशियम, सिलिकॉन, सोडियम, लौह, जस्ता, कैल्शियम, और बीटा -कैटोरीन, ताजी अदरक में 80.1% जल, 2.5% प्रोटीन, 0.1% वसा, 3% रेसे और 10.3% कार्बोहायड्रेट पाया जाता है। इसके अतिरिक्त अदरक में आयरन, कैल्सियम लौह फास्फेट आयोडीन क्लोरिन खनिज लवण तथा विटामिन आदि पोषक तत्व पाये जाते है।

आयुर्वेदिक औषधिजड़ी-बूटी इलाज

 अदरक के औषधीय गुण – Benefits of Ginger

अदरक से लाभ: अदरक के द्वारा शारीरिक, मानसिक थकान, दर्द, गले की खरांश, सिर दर्द, नई ताजगी, ऊर्जा आदि में लाभकारी होती है। अदरक में एन्टी -फलंग, एन्टी-वायरल, एन्टी -इन्फ्लैमैटरी, एन्टी -सेप्टिक, एन्टी -बायोटिक आदि गुण अदरक में पाये जाते है। सुखी हुई अदरक को सोंठ कहते है। सुखी अदरक में 8-10%,  5% प्रोटीन,  4-6 प्रतिशत वसा,  4-8% रेशे, 61-70 प्रतिशत शर्करा तथा उड़नशील तेल 2-3 प्रतिशत होते है।

अदरक का पौधा – Ginger Plant

 अदरक के औषधीय गुण फायदे एवं सेवन विधि – Ginger ke Gharelu Upachar

अदरक का इतिहास: विश्व में में अदरक 5010 वर्ष से उपयोग किया जा रहा है। अदरक का प्रयोग मसाले के रूप मे, औषधि के रूप में एवं सबसे ज्यादा चाय के इस्तेमाल में किया जाता है। । पारम्परिक चिकित्सा पद्धति और आयुर्वेद में अदरक का प्रयोग प्राचीन काल से किया जा रहा है। अदरक हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होती है। अदरक पेट के कई बिमारियों से राहत दिलाती है। अदरक को आयुर्वेद में महाऔषधि कहा जाता है। अदरक में जिंजरोल नामक एक बहुत बड़ा असरदार पदार्थ होता है जो जोड़ों और मांसपेशियों के दर्द को कम करता है। अदरक का वानस्पतिक नाम जिंजिबर ऑफिसिनेल है।

गठिया के दर्द में अदरक के फायदे और सेवन विधि – Benefits of Ginger in Arthritis pain

गठिया के दर्द में अदरक के पेस्ट को हल्दी के साथ दिन में दो तीन बार दर्द से प्रभावित स्थान पर लेप करने से या कच्चे पके अदरक को आहार के साथ सेवन करने से दर्द कर रही मांशपेशियों की वेदना दर्द शांत होती है। तथा स्नान करते समय अदरक के तेल को पानी में दो चार बून्द डाल सकते है। गठिया के दर्द में लाभकारी होता है।

 खांसी में अदरक के फायदे एवं सेवन विधि – Use of Ginger in Cough 

अदरक में पाये जाने वाले गुण खांसी को नष्ट कर देते है, खांसी आने पर अदरक के छूटे-छूटे करके एक एक टुकड़े को चूसते रहने से खांसी जलन और खरांश कुकुर खांसी में लाभ होता है।

सर्दी और जुकाम में अदरक के फायदे एवं सेवन विधि – Use of Ginger in cold 

सर्दी- ज़ुकाम और जी मिचलाने की समस्या के लिए अदरक सबसे पुराना नुस्खा है। अदरक सर्दी के बैक्टीरिया को मारकर सर्दी से तुरंत राहत दिलाता है। गर्भ के शुरुआती दिनों में होने वाली मॉर्निंग सिकनेस की समस्या को अदरक एकदम ठीक कर देता है।

पाचन तंत्र में अदरक के फायदे एवं सेवन विधि – Use of Ginger in Digestive System

पाचन तंत्र में अदरक महत्वपूर्ण लाभ अदरक में फेनोलिक यौगिक होते है जो पेट की जलन को दूर करने में मदद करती है। अदरक हमारे लिए लार और पित्त (Saliva and bile) के उत्पादन में वृद्धि करता है और पेट पर पड़ने वाले दवाब को कम करते है। अदरक हमारे पाचन तंत्र की क्रिया को दुरुस्त रखती है। अदरक का सुबह शाम नियमित सेवन करने से कोलन कैंसर और कब्ज को दूर करने में लाभदायक है।

यौन शक्ति बढ़ाने में अदरक के फायदे एवं सेवन विधि – Benefits of Ginger in Sexual power

अदरक का प्रयोग यौन शक्ति को बढ़ाने के लिए किया जाता है। अदरक से आने वाली खुशबू आपकी यौन की इच्छाओं और क्षमताओं को बढ़ाने में लाभप्रद है। अदरक आप के शरीर के मध्य भाग में रक्त अधिक आसानी से फैलाती है जो आप के यौन शक्ति के लिए विशेष आवश्यक होता है। अदरक को खाने के बाद आप को सेक्स की इच्छा को बढ़ा देती है।

मोटापा कम करने में अदरक के फायदे एवं सेवन विधि – Use of Ginger in Weight loss

अदरक का प्रयोग से आप मोटापे को कम कर सकते है। अदरक आप के चयापचय (metabolism) को बढ़ावा देता है तथा मोटापा को कम करने में लाभप्रद होता है। अदरक का सुबह शाम सेवन करने से अदरक आपकी सहनशक्ति को बढ़ावा देती है। अदरक और शहद का सेवन करने से आपके शरीर के अंदर अत्यधिक वसा कम होता है जो कि वसा मोटापे का विशेष कारण है। आप अपने स्वस्थ को निरोगी रखने के लिए अदरक का नियमित सेवन करें।

Sponsored
हृदय रोग में अदरक के फायदे एवं सेवन विधि – Use of Ginger in heart Disease

अदरक का प्रयोग हृदय रोग के उपचार में बहुत ही लाभकारी होता है। अदरक में जिंजरोल नामक एक बहुत असरदार पदार्थ होता है जो जोड़ों और मांसपेशियों के दर्द को कम करता है। अदरक के उपचारात्मक गुण हृदय रोग को मजबूत बनाते हैं। हृदय रोगों से छुटकारा पाने के लिए और उसके उपचार में ज्यादा तर अदरक के तेल का प्रयोग किया जाता है। अदरक कोलेस्ट्रॉल को कम करने, ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने, रक्त प्रवाह में सुधार लाने और अवरुद्ध तथा रक्त के थक्कों को विखेरने का काम करती है।

जोड़ों के दर्द में अदरक के फायदे एवं सेवन विधि – Benefits of Ginger in Joints pain

अदरक जोड़ों का दर्द सूजन और मांसपेशियों के दर्द में लाभकारी है। अदरक मांसपेशियों के दर्द में 25% तक आराम देती है। अदरक जोड़ों के दर्द के स्थान पर लेप करने या फिर नियमित सुबह शाम सेवन करने से सूजन और जोड़ों के दर्द में लाभदायक है।

संक्रमण को रोकने में अदरक के फायदे एवं सेवन विधि – Use of Ginger in Infection

अदरक संक्रमण को रोकने में प्रभावी होता है। अदरक मुंह में हानिकारक कीटाणूओं को मार कर हमारे मुंह एवं मसूढ़ो को स्‍वस्‍थ पूर्वक बनाने रखने में मदद करती है। अदरक बैक्‍टीरिया को फैलने से रोकती है जो पेशाब मार्ग को संक्रमणिक कर देते है। तथा निमोनिया का कारण बन जाते है। संक्रमण से बचने के लिए अदरक का नियमित सेवन करने से संक्रमण नष्ट हो जाते है।

दस्त में अदरक के फायदे एवं सेवन विधि – Benefits of Ginger in diarrhea

दस्त से परेशान व्यक्ति अदरक को पीसकर पाउडर बना ले और उस पाउडर का नियमित रूप से सेवन करने से आपका दस्त एक दो दिन में ही ठीक हो जायेगा। पेट का दर्द, पेट के ऐंठन में अदरक बहुत लाभकारी होती है

त्वचा में अदरक के फायदे एवं सेवन विधि – Use of Ginger in skin

अदरक में एंटीऑक्सिडेंट पाये जाते है जो एक्जमा के लक्षण को कम करने में मदद करती है। तथा त्वचा पर होने वाले मुहासे, काले धब्बे, दाग, फुंसिया आदि में अदरक गुणकारी सिद्ध हुई है। अदरक का नियमित सेवन करने से आपकी त्वचा बिल्कु साफ और स्वाफ्ट रहेगी।

मासिक धर्म में अशोक वृक्ष की दवाएं एवं सेवन विधि: CLICK HERE

मासिक धर्म में अदरक के फायदे एवं सेवन विधि – Use of Ginger in Menstrual

मासिक धर्म में महिलाओं को अदरक का स्तेमाल अधिक से अधिक करने पर मासिक धर्म में होने वाले दर्द पेट के ऐंठन को कम करने मदद करती है। अदरक शरीर में प्रोस्‍टाग्‍लैंडिन के स्‍तर को मीडियम रखता है प्रोस्‍टाग्‍लैंडिन ऐंठन का मुख कारण है। अदरक का नियमित सेवन किये जाने पर प्रोस्‍टाग्‍लैंडिन को नियंत्रित रखता है। इस प्रकार हम बहुत सी बीमारीयों को रोक सकते है।

अदरक का रस- Ginger Juice 

कैंसर में अदरक के फायदे एवं सेवन विधि – Benefits of Ginger in Cancer

अदरक में पाये जाने वाला एंटीऑक्सिडेंट पेट में कैंसर कोशिकाओं को नष्‍ट करते है। अदरक में एपोप्‍टोसिस (Apoptosis) भी पाये जाते है जो टूयूमर एवं कैंसर कोशिकाओं की प्रगति नष्ट को रोकने मे मदद करता है। अदरक में एंटी-ओक्सिडेंट गुण भी होते है , अदरक के सेवन से कैंसर बचाव में सहायक एंजायम सक्रीय हो जाते है।

सूजन में अदरक के फायदे एवं सेवन विधि – Use of Ginger in swelling

सूजन में अदरक के गुण शरीर में किसी भी स्थान पर सूजन पर अदरक को कूट कर सुबह शाम सूजन वाले स्थान पर लेप करने से सूजन में लाभ होता है। तथा सिर दर्द में अदरक को मुँह में रखकर चूसते रहने और चाय के साथ सेवन करने से सिर दर्द में आराम मिलता है।

दर्द में अदरक के फायदे एवं सेवन विधि – Use of Ginger in pains

अदरक में कैल्शियम अधिक मात्रा में पाई जाती है कैसा भी दर्द हो अदरक का सेवन नियमित रूप सेवन करने से दर्द में लाभ होता है।

रक्त संचालन में अदरक के फायदे एवं सेवन विधि – Benefits of Ginger in Blood circulation

रक्त संचालन में अदरक गुण, अदरक का नियमित सेवन से हमारे शरीर का रक्त संचालन को दुरुस्त रखने का काम करता है। तथा हमारे शरीर में कर्मी को पैदा करता है, सर्दी के मौसम में अदरक को अधिक से अधिक सेवन करना चाहिए क्योंकि सर्दी को दूर करता है।

अदरक की जानकारी: Adrak Ginger ke Gun, Adrak ke Labh, Adrak ke Fayde, Adrak ke Gun Aur Sevan Vidhi, Adrak me Payen Jane Vale Poshak ttva, Adrak ka Prayog, Adrak ke Aushadhiy Gun, Adrak ke Aushadhiy Prayog, Adrak ke Aurvedik Upchar. Adrak ke Upyog, Adrak ke Aushadhiy Gun Fayde Evam Sevan Vidhi. अदरक क्या है?, अदरक का रस, अदरक का पौधा, अदरक के नुकसान, अदरक का रस कैसे निकाले।

Sponsored

Reply

Don`t copy text!